छत्तीसगढ़ छात्रगृह योजना

छत्तीसगढ़ छात्रगृह योजना

छत्तीसगढ़ छात्रगृह योजना :- छत्तीसगढ़ सरकार ने प्रदेश के दिव्यांग छात्रों के लिए एक नई योजना को शुरू किया। इस योजना का नाम छत्तीसगढ़ छात्रगृह योजना है। सरकार उन छात्रों को छात्रावास देगी जो मेडिकल और इंजीनियरिंग की प्रतियोगिता परीक्षाओं, यूपीएससी, पीएससी की तैयारी कर रहे हैं। सरकार छात्रों को किराए पर घर लेकर दिव्यांग बच्चों को देगी ताकि वह अपनी बढ़ाई कर सके। सरकार जल्द ही दिव्यांग बच्चों के लिए छात्रावासों में भी कोटा फिक्स करने की तैयारी कर रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिव्यांगों के लिए 1995 में बना पुराना एक्ट बदल दिया है। अब लागू हो रहे नए नियमों में दिव्यांगों को कई सहूलियतें देने की तैयारी की जा रही है।सामान्य छात्रवासों में दिव्यांग बच्चों के लिए कोटा फिक्स किया जाएगा। इसके बाद भी अगर हास्टल में कमरा नहीं मिलता तो सरकार अपने पैसे से किराए का घर देकर उनकी पढ़ाई में मदद करेगी। चूंकि दिल्ली में कमरे का किराए काफी ज्यादा होता है इसलिए अगर कुछ दिव्यांग मिलकर रूम शेयर करेंगे तो सरकार 10 हजार रुपए महीने तक की मदद देगी।

छत्तीसगढ़ छात्रगृह योजना विशेषताएं

* आदिवासी विकास विभाग के तहत् जिले में संचालित छात्रावासों में स्वीकृत सीट से अधिक विद्यार्थियों के आवेदन प्राप्त होने की दशा में विद्यार्थियों को ’छात्रगृह आवास योजना’ के तहत् लाभान्वित किया जाएगा।
* कक्षा ग्यारहवीं से उच्च स्तर तक के विद्यार्थी इस योजना का लाभ उठा सकेंगे।

* सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग ने बताया कि यदि इस योजना के तहत् विद्यार्थी निजी मकान अथवा कमरा किराए से लेते हैं।
* तो उन्हें यह सुविधा दी जाएगी। इसमें मकान किराया, बिजली, पानी तथा छात्रावासी दर पर छात्रवृत्ति इत्यादि शामिल है।

* इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए पालक अथवा पात्र विद्यार्थी संबंधित पोस्ट मैट्रिक छात्रावास के अधीक्षक से सम्पर्क कर सकते हैं।
* इस योजना के तहत सिविल सेवा की तैयारी कर रहे दिव्यांग बच्चों को प्रारंभिक परीक्षा पास करने पर 20 हजार रूपये देगी।

* मुख्य परीक्षा पास करने पर 30 हजार रूपये दिए जायगे।
* छत्तीसगढ़ सिविल सेवा में चयनित होने पर 50 हजार का पुरस्कार दिए जायगे।

* बीए, बीकाम आदि में पढाई कर रहे दिव्यांग छात्रों को किताबें भी मुफ्त दिए जायगे।
* छत्तीसगढ़ सरकार ने दिव्यांग छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने के लिए नगद पुरस्कार योजना शुरू की है।

* इस योजना के तहत 10th व 12th के दिव्यांग बच्चों की मेरिट लिस्ट जारी की जाती है।
* 10th के मेघावी छात्र को 2 हजार रूपये दिए जायगे।

* 12th के टॉपर को 5 हजार रूपये का पुरस्कार रूपये दिया जायगे।
* बीए, एमए और आगे की परीक्षाओं में टापर्स को 6 हजार से 12 हजार तक नगद पुरस्कार दिया जायगे।

 

छत्तीसगढ़ छात्रगृह योजना

 

 

How To Apply|Apply Online|Online Registration|Online Form|Details|Benefit| Eligibility Criteria|Objective|Online Application form

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *