Baby Care Kit Scheme Maharashtra

Baby care kit scheme launched, Maharashtra govt to gift moms Rs 2,000 baby care kit, maharashtra baby care kit scheme,बेबी केयर किट योजना महाराष्ट्र ,Baby Care Kit Scheme Maharashtra 

Baby Care Kit Scheme Maharashtra

Baby Care Kit Scheme Maharashtra :- दोस्तों आप को बता दे की महाराष्ट्र सरकार ने बेबी केयर किट योजना महाराष्ट्र (Baby Care Kit Scheme Maharashtra) की शुरुआत की है। इस योजना के तहत सरकार बच्चों के जन्म पर माताओं को उपहार के रूप में 2,000 रुपये देगी। सरकार ने कहा है की राज्य के प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों या सरकारी अस्पतालों में पैदा हुए सभी नए पैदा हुए बच्चे इन निःशुल्क किट दी जाएगी। इस योजना का लाभ परिवार के पहले बच्चे के लिए लागू होगी। यह योजना अस्पताल में बच्चे को जन्म देने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए नवजात शिशुओं की मां को ये शिशु देखभाल किट दी जाएगी।

Baby Care Kit Scheme Maharashtra

इससे यह सुनिश्चित होगा कि बच्चों को मां का दूध और उचित पोषण मिल जाए। सरकार ने बताया की सी योजना आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और तेलंगाना में चल रही है और इसने उन राज्यों में अच्छे नतीजे मिल रहे हैं। इस योजना मुख्या उद्देश्य यह है की सरकार सुनिश्चित करेगी कि राज्य में शिशु मृत्यु दर कम हो रही है। विभाग ने इस योजना के लिए मसौदा तैयार कर लिया है। सरकार ने बेबी केयर किट योजना प्रदान करने के लिए 80 करोड़ रुपये का प्रबधन किया है।

Items List Baby Care Kit Scheme Maharashtra

सभी बेबी केयर किट के तहत सामान की लिस्ट :-

* बच्चों के कपडें
* एक छोटा बिस्तर
* तौलिया, प्लास्टिक डायपर (नापियां)

* शारीरिक मालिश तेल
* थर्मामीटर
* मच्छरदानी
* वोलन कंबल

* शैम्पू
* नैल कटर
* हाथ के दस्ताने
* मोज़े

* बॉडी वॉश लिक्विड
* हाथ प्रक्षालक
* मां के लिए वोलन कपड़े
* छोटे खिलौने

आरटीआई पूछताछ के जवाब के अनुसार, अप्रैल 2017 और फरवरी 2018 के बीच लगभग 13,500 शिशु की मृत्यु हो गई। इन बच्चों में से लगभग 22% समय से पहले पैदा हुए थे, 7% अनुबंधित निमोनिया के साथ, 12% एस्फेक्सिया के साथ मृत्यु हो गई, 10% जन्मजात विकृतियां हैं और 7% ने कई अन्य संक्रमणों के साथ पैदा हुआ थे।

महिलाओं और बाल विकास विभाग ने दावा किया कि 20 लाख गर्भवती महिलाये शहरी क्षेत्रों में 8 लाख और ग्रामीण इलाकों में 12 लाख सलाना बच्चो को जन्म देती हैं। ऐसी महिलाओं में से केवल 50% ही राज्य स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों में पंजीकृत हैं।

1 Comment

Add a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.