Chhattisgarh govt. Bihaan Scheme Under Swarna Jayanti Rozgar Yojana

Chhattisgarh govt. Bihaan Scheme Under Swarna Jayanti Rozgar Yojana :- छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ की महिलाओं के लिए ” बिहान स्कीम ” Bihaan Scheme की शुरुआत की है। इस योजना के अंतर्गत सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए महिला सहायता समूहों को सस्ता ऋण उपलब्ध कराएगी। यह योजना महिला सशक्तिकरण की दिशा में बिहान योजना के लिए एक प्रमुख कदम है क्योंकि यह योजना केवल छत्तीसगढ़ की महिलाओं पर केंद्रित है। मुख्यमंत्री ने कहा की पहले गांवों में आजीविका और स्वावलंबन के लिए स्वर्ण जयंती रोजगार योजना चलायी जाती थी। जिसमें महिलाओं और पुरूषों की समान भागीदारी होती थी। अब राज्य सरकार ने नाम बदलकर बिहान योजना (बीहान का मतलब सुबह) और अब यह योजना पूरी तरह से महिलाओं को समर्पित है। इसके तहत महिला स्व-सहायता समूहों का गठन किया जा रहा है।

Apply for Chhattisgarh govt. Bihaan Scheme Under Swarna Jayanti Rozgar Yojana

मुख्यमंत्री ने कहा अभी एक लाख 24 हजार से ज्यादा महिला स्व-सहायता समूहों का गठन राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत किया जा चुका है। छत्तीसगढ़ सरकार ने महिला स्व-सहायता समूहों को आसान और सस्ता ऋण देने का निर्णय लिया है। राज्य सरकार महिला स्व-सहायता समूहों को भी आसान और कम ब्याज ऋण प्रदान किया है। राज्य सरकार पिछले 5 वर्षों में करीब 90,000 एसएचजी के लिए 1,151 करोड़ रुपये की ऋण राशि वितरित की है।

महिलाओं को एसएचजी को ठोस अपशिष्ट प्रबंधन में उनके कार्यों के लिए राष्ट्रीय स्तर की पावती मिली है। ये समूह ठोस अपशिष्ट एकत्र करते हैं, इसे संसाधित करते हैं और इसे उर्वरकों में परिवर्तित करते हैं जिन्हें आय के लिए बेचा जा सकता है। 20 जिलों में लगभग 44 ब्लॉक से संबंधित महिलाएं बैंक सखी बन गई हैं। इस योजना के तहत, एसएचजी दरवाजे से दरवाजा बैंक सुविधा प्रदान करता है। यह बायहान योजना गांवों और ग्रामीण क्षेत्रों से संबंधित महिलाओं को मजबूत करेगी।

Impotent Factor of Bihaan Scheme Chhattisgarh govt.

* महिला एसएचजी रोजगार उन्मुख और आय उत्पन्न करने वाली गतिविधियों को अपनाती है।
* एसएचजी अब जैविक खेती के माध्यम से चावल पैदा करता है जो मेट्रो शहरों में बड़ी मांग में है।

* कुछ एसएचजी ने मोमबत्तियों के निर्माण के बजाय एलईडी बल्ब का निर्माण शुरू कर दिया है।
* महिलाओं को एसएचजी को ठोस अपशिष्ट प्रबंधन में उनके कार्यों के लिए राष्ट्रीय स्तर की पावती मिली है।

* ये समूह ठोस अपशिष्ट एकत्र करते हैं। इसे संसाधित करते हैं और इसे उर्वरकों में परिवर्तित करते हैं जिन्हें आय के लिए बेचा जा सकता है।
* 20 जिलों में लगभग 44 ब्लॉक से संबंधित महिलाएं बैंक सखी बन गई हैं।

* इस योजना के तहत एसएचजी दरवाजे से दरवाजा बैंक सुविधा प्रदान करता है।
* यह बिहान योजना गांवों और ग्रामीण क्षेत्रों से संबंधित महिलाओं को मजबूत करेगी।

 

How To Apply|Apply Online|Online Registration|Online Form|Details|Benefit|Eligibility Criteria|Objective|Download Online Application form

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *