Delhi Mukhyamantri Bijali Subsidy Yojana

Delhi Mukhyamantri Bijali Subsidy Yojana,Power subsidy scheme Delhi,apply online,online registration,online form,online application form,download pdf form, notification,website,helpline number,benefit,eligibility criteria ,दिल्ली मुख्यमंत्री बिजली सब्सिडी योजना,बिजली सब्सिडी योजना दिल्ली

Delhi Mukhyamantri Bijali Subsidy Yojana

दिल्ली मुख्यमंत्री बिजली सब्सिडी योजना

Delhi Mukhyamantri Bijali Subsidy Yojana :- दोस्तों जैसा की आप को पता होगा दिल्ली के मुख्यमंत्री ने दिल्ली के वासियो के लिए बिजली सब्सिडी योजना की होना की है। इस योजना के तहत दिल्ली में किराये के मकानों में रहने वाले लोगों को भी इस योजना का फायदा मिलेगा।

दिल्ली सरकार ने अधिकारियों से कहा है कि वे प्रीपेड बिजली मीटर के विकल्प पर विचार करें ताकि सरकार की बिजली सब्सिडी योजना का फायदा किरायेदारों को भी मिल सके। इस योजना के तहत सरकार ने बिजली विभाग तथा बिजली वितरण कंपनियों (डिस्काम) के अधिकारियों को निर्देश दिए।

बिजली सब्सिडी योजना के तहत दिल्ली सरकार घरेलू कनेक्शन पर 400 यूनिट तक के इस्तेमाल पर बिजली दरों पर सब्सिडी देती है। दिल्ली सरकार ने कहा है की जल्दी से जल्दी इस योजना का रोडमैप त्यार करे ताकि हर किरायेदार को बिजली सब्सिडी का फायदा मिलना चाहिए।

किराएदारों को मिले बिजली सब्सिडी

Benefit of Delhi Mukhyamantri Bijali Subsidy Yojana

* इस योजना के तहत दिल्ली के अलग-अलग हिस्सों में रहने वाले किरायेदारों तक सब्सिडी स्कीम पहुँचाना है।

* दिल्ली में हजारों की संख्या में किरायेदार हैं जो अनधिकृत कॉलोनियों और दिल्ली-देहात में रहते है जिन्हे बिजली सब्सिडी का फायदा मिलेगा।

* किराएदारों ने मुख्यमंत्री से अलग अलग अवसर पर यह मांग की है कि किराएदारों को भी बिजली दरों में देय छूट का लाभ मिलना चाहिए।

* किरायेदारों को ऊंची दर पर बिजली बिल देना पड़ता था लेकिन इस योजना के बाद उन्हें फायदा मिलेगा।

* दिल्ली में पूर्वी भारत, उत्तरी-पूर्वी भारतीय सहित लाखों परिवार, युवा व कामकाज के लिए दिल्ली पहुंचे लोग बतौर किराएदार रहते हैं। इनमें से लाखों किराएदार दिल्ली के मतदाता हैं।

* जो किराएदार दिल्ली के मतदाता नहीं भी उन्हें भी बिजली सब्सिडी योजना का फायदा मिलेगा।

 

Notification के लिए आप Subscribe to Notification Bell को दबा दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.