Devi Ahilyabai free Shiksha Yojana

Devi Ahilyabai free Shiksha Yojana

Devi Ahilyabai free Shiksha Yojana

Devi Ahilyabai free Shiksha Yojana :- दोस्तों जिस की आप को पता होगा की उत्तरप्रदेश मुख्यमंत्री ने लड़कियों के लिए एक नई योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत उत्तरप्रदेश सरकार लड़कियों को फ्री शिक्षा देगी। इस योजना का नाम “देवी अहिल्याबाई योजना” है। इस योजना के तहत लड़कियों को पात्र बनाया गया है जो स्नातक और परास्नातक में पढ़ने वाली छात्राओं की पढ़ाई मुफ्त होगी। मुख्यमंत्री ने कहा है की इस योजना इस योजना को जल्दी शुरू किया जाये।

वह ‘अंतर्राष्‍ट्रीय बेटी दिवस’ के मौके पर आयोजित ‘बेटी पढ़ाओ, रोशनी बढ़ाओ’ कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि, भारत सरकार की बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की योजना चल रही है। देवी अहिल्याबाई योजना के तहत उत्तरप्रदेश राज्य में बेटियों को स्नातक तक मुफ्त शिक्षा प्रदान की जाएगी। योजना के तहत प्रदेश की लाखों छात्राओं को लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत सरकार बेटियों को आगे बढ़ाने के लिए बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की योजना चल रही है।

Benefit of Devi Ahilyabai free Shiksha Yojana

* इसी साल यूपी बोर्ड के रिजल्ट में 147 टॉपर में 99 छात्राएं थी।
* कौशल विकास मिशन के तहत छह लाख प्रशिक्षित किए गए लोगों में 50 फीसदी संख्या महिलाओं की है।

* यूपी मुख्यमंत्री जी ने लड़कियों के कल्याण व विकास के लिए अनेकों योजनाओं का शुभारम्भ किया गया है।
* प्रदेश सरकार इसी सत्र से अहिल्याबाई योजना के तहत उन्हें शुल्क प्रतिपूर्ति करेगी।

* इस योजना का लाभ उन सभी वर्ग की छात्राओं को मिलेगा।
* जो लड़कियाँ समाज कल्याण विभाग की छात्रवृत्ति से वंचित थीं उन्हें भी इस योजना के तहत लाभ मिलेगा।

* उच्च शिक्षा निदेशक ने बताया कि देवी अहिल्याबाई योजना के तहत किसी भी आय और जाति की छात्राओं को शुल्क प्रतिपूर्ति की सुविधा दी जाएगी।
* जिन छात्राओं को समाज कल्याण विभाग से शुल्क प्रतिपूर्ति नहीं होती है इस योजना के तहत उनकी फीस वापस उनके खाते में कर दी जाएगी।

Ahilyabai free Shiksha Yojana

 

 

How To Apply|Apply Online|Online Registration|Online Form|Details|Benefit| Eligibility Criteria|Objective|Online Application form

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*