Kanya Van Samruddhi Yojana Maharashtra

Kanya Van Samruddhi Yojana Maharashtra :- महाराष्ट्र सरकार ने एक नई योजना “कन्या वान समृद्धि योजना” के शुभारंभ की घोषणा की है। इस योजना के तहत सरकार किसानों के प्रत्येक परिवार को पौधे देंगे जहां पर लड़की पैदा हुई हैं। इस योजना के तहत अब से आगे किसी भी किसान के परिवार में 1 अप्रैल से 31 मार्च के बीच लड़की लड़की पैदा होती है तो वह एक वर्ष में किसी भी समय पौधे के लिए आवेदन पत्र भर सकते हैं।

इस योजना से प्रति वर्ष लगभग 2 लाख किसानों के परिवारों को फायदा होगा। इस योजना को मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने 27 जून 2018 को आयोजित कैबिनेट की बैठक में इस योजना को मंजूरी दे दी है। यह योजना यह भी सुनिश्चित करेगी कि इन नए लगाए गए पेड़ों की आय का उपयोग लड़कियों के भविष्य की रक्षा के लिए किया जा सके।

इस योजना के परिणामस्वरूप महिला सशक्तिकरण होगा और वृक्षारोपण को भी बढ़ावा मिलेगा। हालांकि यह योजना परिवार में अधिकतम 2 लड़की बच्चों के लिए लागू है।

Kanya Van Samruddhi Yojana Features

* सरकार किसानों के उन सभी परिवारों को बिल्कुल मुफ्त पौधे मुहैया कराएंगे जहां लड़की पैदा होगी।
* सरकार प्रत्येक किसानों को 10 पौधे मुफ्त में देगी।

* लाभार्थियों को 1 जुलाई और 7 जुलाई के बीच पौधे लगाने की आवश्यकता है।

* इन पेड़ों से अर्जित आय का इस्तेमाल परिवारों के भविष्य की रक्षा के लिए परिवारों द्वारा किया जाएगा।

* यह पौधे विभिन्न किस्मों के होंगे – टीकवुड, आम, जैकफ्रूट, काली बेर और चिमनी।
* एक परिवार में अधिकतम 2 लड़कियों के लिए किसान इस लाभ का लाभ उठा सकते हैं।

Application Form Maharashtra Kanya Van Samruddhi Yojana

* राज्य के किसी किसान परिवार ने चालू वर्ष के 1 अप्रैल के बीच एक लड़की पैदा होने पर अगले वर्ष 31 मार्च तक पंजीकरण करा सकता है।

* इस कारण से किसानों को ग्राम पंचायत के साथ एक आवेदन पत्र जमा करना होगा।

* किसानों को लड़की का जन्म प्रमाण पत्र भी बनवाना होगा और उसे आवेदन पत्र के साथ लगाना होगा।

* सत्यापन के बाद प्रत्येक किसान परिवार को वन विभाग की ओर से 10 पौधे मुक्त प्रदान किए जाएंगे।

 

How To Apply|Apply Online|Online Registration|Online Form|Details|Benefit|Eligibility Criteria|Objective|Download Online Application form

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *