Rajasthan Free Smartphone for Anganwadi Workers Yojana

Rajasthan Free Smartphone for Anganwadi Workers Yojana

Rajasthan Free Smartphone for Anganwadi Workers Yojana :- राजस्थान सरकार ने राज्य में 21000 आँगनवाड़ी श्रमिकों को मुफ्त स्मार्टफोन देगी। इस योजना के अंतर्गत सरकार 9 जिलों में आँगनवाड़ी वर्करो को स्मार्टफोन बाटेगी। इस योजना का उद्देश्य यह की सरकार ग्रामीण इलाको को स्मार्ट फ़ोन से जोड़ेगी। सरकार सभी आगनबाड़ी केन्द्रो को डिजिटल बनाने के बारे में सोच रही है। सरकार ग्रामीण इलाको के आँगनवाड़ी केन्द्रो को स्मार्टफोन से जोड़ कर उन पर निगरानी रखेगी। आईएसएसएनआईपी कार्यक्रम के तहत लगभग 21,446 आनागनवाड़ी कार्यकर्ताओं को स्मार्टफोन मिलेगा। इन स्मार्टफोन के माध्यम से आँगनवाड़ी कार्यकर्ता रोज़ाना मोबाइल आधारित आईसीडीएस-सीएएस एप पर डाटा अपलोड करेंगे। स्मार्टफ़ोन को 2 चरणों में वितरित किया जाएगा।

राजस्थान सरकार ने प्रदेश के प्रत्येक जिले में कार्यकुशलता के आधार पर श्रेष्ठ आंगनबाड़ी केन्द्र चिन्हित करने तथा उन्हें आदर्श आंगनबाड़ी केन्द्रों के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए हैं। सरकार इन आंगनबाड़ी केन्द्रों की रैंकिंग देखि जाएगी। जो आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं अच्छा काम करता है उसे पुरस्कार दिया जाएगा। राजस्थान सरकार ने आदेश दिया की प्रदेश में जो आंगनबाड़ी केन्द्र भवन बन रहे हैं। सरकार ने मातृ एवं शिशु कल्याण के लिए बारां एवं झालावाड़ जिलों में सफलतापूर्वक चलाए जा रहे ‘ट्रिपल-ए‘ कार्यक्रम की तर्ज पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं आशा सहयोगिनियों और एएनएम की गतिविधियों में आपसी समन्वय पर बल दिया। राजे ने विभाग से संबंधित बजट एवं अन्य घोषणाओं की भी समीक्षा की। प्रदेश सरकार ने राज्य में आगनबाड़ी के बच्चो को कई प्रकार की सुबिधा दे रही है। सरकार आगनबाड़ी में बच्चो को पोषण आहार देती है।

Detail of Rajasthan Free Smartphone for Anganwadi Workers Yojana

* सरकार स्मार्टफोन को 9 जिलों में वितरित करेगी।
* 106 ब्लॉक में 21,430 आईसीएसी आंगनवाड़ी केंद्रों को कवर किया जाएगा।

* एप्लिकेशन और स्मार्टफ़ोन का उपयोग करने के लिए प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।
* सूचना और अपडेट वास्तविक समय में देखा जा सकता है।

Benefit of Rajasthan Free Smartphone for Anganwadi Workers Yojana

* इस योजना से आगनबाड़ी कार्यकर्ता हमेशा अपडेट रहेगी।
* आगनबाड़ी कार्यकर्ता अपने स्मार्ट फोन के द्वारा पढ़ने लिकने के नए तरिके सिखाएगी।

* इस वर्ष से कोलायत ब्लॉक की आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय -‘राज पोषण‘ सॉफ्टवेयर के माध्यम से सीधे उनके खाते में जमा होगा।
* सरकार ने निर्देश दिए कि वे पोषाहार वितरण में लगे हुए स्वयं सहायता समूहों के नाम, पते एवं दूरभाष नंबरों की सूची का वेरिफिकेशन करें।
* कम वजन वाले बच्चों को चिन्हित कर उन्हें समय पर उपचार देने के निर्देश दिए जिससे वे स्वस्थ रह सकें।

9 Districts Where Distribute Smartphone Rajasthan

* जयपुर
* अजमेर
* अलवर
* कोटा

* चुरू
* जोधपुर
* उदयपुर
* चित्तौड़गढ़
* बारा

ICDS- CAS App Install in Smartphone Rajasthan

जब स्मार्टफोन आँगनवाड़ी कार्यकर्ता को दे दिया जाएगा तो उस के बाद उस स्मार्टफोन पर आईसीडीएस-सीएएस इनस्टॉल करके उस अप्प का प्रशिक्षित दिया जाएगा। इस का प्रशिक्षण आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को ब्लॉक में दिया जाएगा। जब प्रशिक्षण पूरा हो जाएगा तो कार्यकर्ता हर रोज डेटा अपलोड करेगीं।

आगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा भराजाने बाला डेटा इस प्रकार होगा
* आंगनवाडी केंद्र में बच्चों की संख्या।
* बच्चों का वजन।
* कुपोषण वाले बच्चों की संख्या।
* बच्चों की वृद्धि।

* घर के दोपहर के भोजन का विवरण लें।
* प्री-स्कूल शिक्षा की स्थिति।
* पीने के पानी की सुविधाएं और शौचालय की उपलब्धता।
* रोगों के खिलाफ बच्चों के टीकाकरण और टीकाकरण।

अब आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को डायरी में अपना डेटा नहीं लिखना पड़ेगा को मैन्युअल रूप से बनाए रखना होता है जो कार्य प्रक्रिया को प्रभावित करता है। स्मार्टफ़ोन पर आईसीडीएस-सीएएस प्रणाली का उपयोग डिजिटल रिकॉर्ड बनाए रखने और सिस्टम को तेज और आसान बनाने में मदद करेगा। सरकार ने पहले ही राज्य में 10,000 स्मार्टफोन वितरित किए हैं।

सरकार जल्द ही राज्य के आंगनबाड़ी केन्द्रों पर आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई हैं। सरकार ने निर्देंश दिए कि सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को समय पर भुगतान सुनिश्चित किया जाए। बैठक के दौरान बताया गया कि जिले में आंगनबाड़ी केन्द्रों में मानदेय सेवाकर्मियों के 4 हजार 95 पद स्वीकृत हैं व इनमें से 290 पद रिक्त हैं। रिक्तियों की भर्ती की सूचना जारी की जा चुकी है।

 

 

 

How To Apply|Apply Online|Online Registration|Online Form|Details|Benefit| Eligibility Criteria|Objective|Online Application form

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *