Rajasthan Gyan Sankalp Portal / Mukhyamantri Vidyadan Kosh Yojana

gyan sankalp portal rajastha, gyan sampark portal, gyan portal, rajgyan tech, shala darpan, raj e gyan app download, rajrmsa, shala darshan,Apply| How To Apply|Apply Online|Online Registration|Online form|Online date

Rajasthan Gyan Sankalp Portal / Mukhyamantri Vidyadan Kosh Yojana

Rajasthan Gyan Sankalp Portal / Mukhyamantri Vidyadan Kosh Yojana :- राजस्थान की राज्य सरकार जयपुर में शिक्षा के महोत्सव 5 अगस्त को ज्ञान संकल्प पोर्टल / राजस्थान शिक्षा निधि पोर्टल लॉन्च करने जा रही है। राजस्थान के सरकारी स्कूलों को बनाए रखने के लिए इस पोर्टल के माध्यम से शिक्षा विभाग कॉर्पोरेट क्वार्टर और योगदानकर्ताओं (दाताओं) को आमंत्रित करेगा। इस योजना के लिए प्रमुख विद्या का एक महत्वपूर्ण कारक होगा। इसके तहत जिलों में विद्या दान के लिए ‘हस्ताक्षर अभियान’ चलाया जाएगा। इस तीन दिवसीय हस्ताक्षर अभियान के माध्यम से यह प्रयास किया जाएगा कि अधिकाधिक राशि जिलों से एकत्र हों। इस एकत्र राशि को आगामी पांच अगस्त को जयपुर में आयोजित किए जाने वाले ‘फेस्टिवल ऑफ एजुकेशन’ के दौरान विद्यादान कोष में जमा कराया जाएगा।

Objestive Gyan Sankalp Portal / Mukhyamantri Vidyadan Kosh Yojana

इस पोर्टल एवं कोष का मुख्य उद्देश्य राजकीय विद्यालयों की मूलभूत आवश्यकताओं एवं प्राथमिकताओं के अनुसार सीएसआर, भामाशाहों, संस्थाओं व क्राउड फंडिंग के माध्यम से आवश्यक धनराशि का संग्रहण व प्रबंधन करना एवं विद्यालयों के विकास हेतु विभिन्न प्रोजेक्ट्स हेतु दानदाताओ का सहयोग प्राप्त करना हैं।

Gyaan Sankalp Portal Onalain Pratigya Form

1. ज्ञान संकल्प पोर्टल पर प्रतिज्ञा के लिए ऑनलाइन फॉर्म जारी किया है, इसका लाभ लेने के लिए rajrmsa.nic.in पर जाना होगा।
2. पोर्टल पर “FILL PLEDGE FORM” पर क्लिक करें।
3. अब पेज पर ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म होगा।
4. अब इस में दी गई जरूरी Information को भरे तथा योजना का लाभ ले।

Guidelines for Knowledge Resolution Portal

1. इस पोर्टल के माध्यम से राजस्थान सरकार सरकारी स्कूलों को बनाए रखने के लिए कॉर्पोरेट क्वार्टर और योगदानकर्ताओं (दाताओं) को आमंत्रित करेगी।
2. ‘ज्ञान’ शब्द का शाब्दिक अर्थ शिक्षा के लिए है और ‘संकल्प’ के लिए खड़ा है।

3. एकत्र किए गए फंड का उपयोग स्कूलों की सुविधाओं और संरचना को बढ़ाने के लिए किया जाएगा।
4. यह पोर्टल सरकारी स्कूलों की आवश्यकताओं को भरने के लिए मानव संसाधन संगठनों, परोपकारी और बड़े पैमाने पर वित्त पोषण से    सीएसआर फंड, प्रसाद और धर्मार्थ दान इकट्ठा करना है।

Mukhyamantri Vidyadan Kosh Yojana

* राजस्थान में राजकीय विद्यालयों को आर्थिक सहयोग प्रदान करने तथा आधारभूत संरचना के सुदृढ़ीकरण के लिए दानदाता अब शिक्षा विभाग द्वारा विकसित किए जाने वाले ‘ज्ञान संकल्प पोर्टल’ एवं ‘मुख्यमंत्री विद्या दान कोष’ के जरिए अपना सहयोग कर सकेंगे।
* स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा बनाया जा रहा यह पोर्टल फंडिंग गेप को कम करने में मददगार साबित होगा।

* इस पोर्टल एवं कोष का मुख्य उद्देश्य राजकीय विद्यालयों की मूलभूत आवश्यकताओं एवं प्राथमिकताओं के अनुसार सीएसआर, भामाशाहों, संस्थाओं व क्राउड फंडिंग के माध्यम से आवश्यक धनराशि का संग्रहण व प्रबंधन करना एवं विद्यालयों के विकास हेतु विभिन्न प्रोजेक्ट्स हेतु दानदाताओ का सहयोग प्राप्त करना हैं।
* इस ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से भामाशाह और औद्योगिक घराने कॉर्पोरेट सोशल रेस्पोंसेबिलिटी (सीएसआर) के तहत जुड़कर सीधे राजस्थान सरकार को शिक्षा में किए जा रहे नवाचारों एवं आधारभूत सुविधाओं को बढ़ाने में अपना सहयोग दे सकते हैं।

* इस पोर्टल के माध्यम से भामाशाह व औद्योगिक घराने प्रदेश के विद्यालयों को सहयोग देने के उद्देश्य से गोद ले सकते हैं।
* दानदाता अथवा सीएसआर कम्पनी परियोजना गतिविधि हेतु आवश्यक धनराशि उपलब्ध करवाकर राजस्थान माध्यमिक शिक्षा परिषद के माध्यम से परियोजना क्रियान्वित कर सकती हैं।
* दानदाताओं द्वारा दिए जाने वाले योगदान का उपयोग राजस्थान माध्यमिक शिक्षा परिषद के द्वारा राज्य सरकार की आवश्यकताओं और प्राथमिकताओं के अनुसार विद्यालयों के विकास हेतु किया जावेगा।

* मुख्यमंत्री विद्या दान कोष में दी गयी योगदान राशि को आयकर अधिनियम की धारा 80 (जी) के अन्तर्गत आयकर छूट प्रदान करने तथा विदेशी स्रोतों से योगदान प्राप्त करने के लिये ‘फॉरेन कंट्रीब्यूशन रेगूलेशन एक्ट’ के तहत पंजीकरण की आवश्यक कार्यवाही भी राज्य सरकार करेगी।
* ज्ञान संकल्प पोर्टल को लांच करने की तिथि 5 अगस्त को प्रस्तावित है।

Click Here For More Information

Click Here for Online Application 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.