Shaheed Gram Vikas Yojana Jharkhand

Shaheed Gram Vikas Yojana Jharkhand,How To Apply|Apply Online|Online Registration|Online Form|Details|Benefit| Eligibility Criteria|Objective|Online Application form

Shaheed Gram Vikas Yojana Jharkhand

Shaheed Gram Vikas Yojana Jharkhand :- भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने झारखंड के खूनी जिले में उल्हात्तु में एक कार्यक्रम के दौरान ‘शहीद ग्राम विकास योजना’ की शुरुआत की। इस योजना का लक्ष्य राज्य में स्वतंत्रता सेनानियों के गांवों को विकसित करना है। शहीद ग्राम विकास योजना पर काम शुरू करने का मार्ग समाप्त हो गया है।

विकास आयुक्त द्वारा की गई राज्य योजना समिति ने 30 करोड़ रूपए की मंजूरी दे दी है। इस योजना में अमर शाहिद बिरसा मुंडा, वीर बुधू भगत, सिडो-कान्हू चंद-भैरव, निलांबर-पितमबर, तेलंगाना, जतारा ताना भगत आदि के गांवों को विकसित किया जाएगा। सरकार की प्रमुख बजट घोषणा में शामिल इस योजना को कल्याण विभाग द्वारा चलाया जाना है।

Shaheed Gram Vikas Yojana Jharkhand

* चयनित शहीदों के घरों में 2.63 लाख की लागत से निर्माण किया जाएगा। इसका लाभ उन लोगों के लिए उपलब्ध होगा जो कच्चे घरों में रहते हैं।

* इसके अलावा गांवों में नालियों, सड़कों, आंगनवाड़ी केन्द्रों, सामुदायिक भवनों और अन्य भौतिक संसाधन भी मजबूत किए जाएंगे।

Benefits of Shaheed Gram vikas yojana

* कई आदिवासी स्वतंत्रता सेनानियों के गांवों को विकसित किया जाएगा और उनके निवासियों को बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराई जाएगी।
* 136 पक्के घरों का निर्माण किया जाएगा। बाएं विंग अतिवाद के कारण इस क्षेत्र में विकास सुस्त था।

* कल्याण विभाग के अनुसार वे गांव में जो नए घरों का निर्माण करेंगे वो दो कमरे, एक बरामदा, बाथरूम और शौचालय के साथ घर उपलब्ध कराएंगे ।
* घरों के निर्माण के लिए welfare department जरुरत मंदों के लिए खुद ही निर्माण प्रक्रिया शुरू करेगा।

* इस योजना के अंतर्गत शहीदो के 19 गावों को विकसित किया जाएगा।
* इन गांवों में आवास का निर्माण 2.63लाख रुपये की दर से किया जाएगा।

* इसका लाभ एससी व एसटी के वैसे परिवारों को मिलेगा जो कच्चे आवास में रहते हैं।
* इस योजना का लाभ तभी मिलेगा यदि पिछले पांच वर्षां में सरकार के किसी भी आवासीय योजना के तहत लाभान्वित नहीं हुए है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.