Deendayal Upadhyaya Sehkarita Kisan Kalyan Yojana

How To Apply|Apply Online|Online Registration|Online Form|Details|Benefit| Eligibility Criteria|Objective|Online Application form

Deendayal Upadhyaya Sehkarita Kisan Kalyan Yojana 2019

Deendayal Upadhyaya Sehkarita Kisan Kalyan Yojana 2019 :- उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गरीब लोगो के लिए एक योजना की शुरुआत किस है। इस योजना के अंतर्गत किसानो को 2% ब्याज दर पर ऋण दिया जाएगा। उत्तराखंड की राज्य सरकार ने राज्य के 18 वें स्थापना दिवस के अवसर पर इस योजना का शुभारंभ किया। यह योजना किसानों को सस्ती ब्याज दरों पर ऋण प्रदान करके उनकी आय को दोगुना करने के लिए बढ़ावा देगा और प्रोत्साहित करेगा। यह योजना ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने और पहाड़ियों से मजबूर प्रवास की जांच करने में मदद करेगी।

इस योजना के लिए आवेदन पत्र जल्द ही सहकारी बैंक में उपलब्ध होगा और सरकार ऑनलाइन आवेदन के लिए एक पोर्टल लॉन्च करेगा। जब तक अधिकारी ने इस योजना के आवेदन फार्म के बारे में कोई भी प्रकार की अधिसूचना नहीं दी है। जैसे कि आवेदन फॉर्म उपलब्ध होंगे आपको इस वेबसाइट के माध्यम से सूचित किया जाएगा।

Uttarakhand Government has started Deen Dayal Upadhyaya Co-operative Farmers Welfare Scheme 2019. Under this Kisan Kalyan Yojana / Agricultural Credit Scheme 2019the government will provide easy loans up to Rs 1 lakh at the rate of 2% interest to the small and marginal farmers and the people living in the border areas.

Ovjective of Deendayal Upadhyaya Sehkarita Kisan Kalyan Yojana 2019

1. मुख्यमंत्री ने वर्ष 2022 तक प्रदेश में किसानों की आय दोगुनी करने के लक्ष्य की ओर एक महत्वपूर्ण कदम आगे बढ़ाते हुए पंडित दीनदयाल उपाध्याय सहकारिता किसान कल्याण योजना का शुभारंभ भी किया।

2. इस योजना के तहत किसानों को 02 प्रतिशत की बेहद कम ब्याज दर पर एक लाख रुपए तक का बहुद्देशीय ऋण उपलब्ध कराया जाएगा।

3. योजना का प्रारंभ करते हुए मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम स्थल पर 101 लघु सीमांत एवं गरीब किसानों को एक-एक लाख रुपए का बहुद्देशीय ऋण प्रदान किया।

4. इस किसान कल्याण योजना/ कृषि ऋण योजना को राज्य के 18 वें फाउंडेशन दिवस (9 नवंबर 2017) के अवसर पर लागू किया गया है।

5. इस योजना का उद्देश्य लौटाने की अवधि 3 साल होगी और ऋण राशि का भुगतान न करने के 1 वर्ष के बाद चक्रवृद्धि प्रभार लगाया जाएगा।

6. यह योजना किसानों की वित्तीय स्थिति में सुधार करेगी। राज्य सरकार द्वारा आयोजित विभिन्न शिविरों में चेक के रूप में ऋण राशि देगी।

7. इस योजना का उद्देश्य किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार लाना है |
8. इस योजना से गाँव की अर्थव्यवस्था में सुधार आएगा|
9. योजना का मुख्य उदेश्य किसानो की आय को दुगना करना है जो की खेती के स्टरको बड़ाकर किया जा सकता है|

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.