KANPUR METRO DETAIL

KANPUR METRO

KANPUR METRO PROJECT

Kanpur metro कानपुर, भारत में एक निर्माणाधीन रेल आधारित जन ट्रांजिट सिस्टम है जो आगे कानपुर मेट्रोपॉलिटन एरिया के लिए बढ़ जाएगा। परियोजना का व्यवहार्यता अध्ययन RITS के द्वारा किया गया था और इसे जून 2015 में पूरा किया गया था। कानपुर मेट्रो रेल की शुरूआत 2020 के आसपास होने की संभावना है। लखनऊ उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा शहर है, उसके बाद कानपुर यह राज्य का सबसे बड़ा औद्योगिक शहर है। Kanpur metro रेल का व्यवहार्यता अध्ययन ट्रैफिक संकट और भीड़ को नियंत्रित करने के लिए तैयार किया गया है जो शहर की विकास, विकास और समृद्धि में बाधा डाल रहा है। लखनऊ मेट्रो रेल निगम को Kanpur metro का काम पूरा करने की जिम्मेदारी है, जब तक कि Kanpur metro के लिए एसपीवी नहीं बनती है। जापान अंतर्राष्ट्रीय सहयोग एजेंसी और यूरोपीय निवेश बैंक Kanpur metro परियोजना को ऋण प्रदान करेगा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने मेट्रो प्रोजेक्ट के कामों को तेजी से पूरा करने के आदेश दिए हैं। कानपुर मेट्रो प्रोजेक्ट को तेजी से आगे बढ़ाने के ऑर्डर से अब खलबली मची है। पॉलिटेक्निक में 50 करोड़ रुपये से मेट्रो के यार्ड और बाउंड्री वॉल बनाने का काम और तेज हो गया है। प्रदेश की पूर्व सपा सरकार ने मेट्रो से संबंधित सभी प्रक्रियाएं पूरी कर इसकी फाइल केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय को भेजी थी। कानपुर मेट्रो को गति देने के लिए अब सिर्फ मंत्रालय की मंजूरी का इंतजार है। पांच महीने पहले ही तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कानपुर मेट्रो प्रोजेक्ट की शुरूआत की थी लेकिन अब मेट्रो ट्रेन चलाने का ‘सेहरा’ योगी सरकार के माथे बंध सकता है। समाजवादी पार्टी ने चुनावी घोषणा के दौरान मेट्रो प्रोजेक्ट का विकास कार्य दिखाकर वोट मांगे थे लेकिन अब मेट्रो ट्रेन पूर्ण रूप से चलवाने की शुरुआत प्रदेश में काबिज भाजपा की योगी सरकार अपने आने वाले कार्यकाल के दौरान कर सकती है।

 

KANPUR METRO ROUTE

Line I

ईट कानपुर
कल्याणपुर रेलवे स्टेशन
कानपुर विश्वविद्यालय
पॉलिटेक्निक [असंबद्धता आवश्यक]
गीता नगर
रावतपुर रेलवे स्टेशन
मोती झील
हर्ष नगर
चुनेगंज
परेड
क्राइस्ट चर्च कॉलेज
फूल बाग
नोरोन्हा क्रॉसिंग
कानपुर सेंट्रल रेलवे स्टेशन
आईएसबीटी झक्कर्कट्टी
पुराने परिवहन नगर
किडवाई नगर उत्तर
किडवाई नगर दक्षिण
यशोदा नगर
बौद्ध नगर
नाउस्ता

Line II

सीएसए विश्वविद्यालय
जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज
रावतपुर रेलवे स्टेशन
काकादेओ
आयुध निर्माणी
गोविंद नगर
बाररा -7
बाररा -8

KANPUR METRO BUDGET

कानपुर मेट्रो के लिए केंद्र की ओर से भी बजट जारी किया जाएगा। जिस तरह यूपी कैबिनेट में मेट्रो की मंजूरी के साथ ही 50 करोड़ का प्रारंभिक बजट अधिकृत किया गया, ठीक यही प्रक्रिया केंद्र भी अपनाएगा। वहां भी शहरी विकास मंत्रालय की ओर से कैबिनेट की बैठक के लिए मेट्रो के मिनट्स तैयार किए जाएंगे। वित्त मंत्रालय को बजट अधिकृत करने का प्रस्ताव भेजा जाएगा। वहां की संस्तुति के बाद केंद्रीय कैबिनेट में इसके बजट को मंजूरी दी जाएगी।

17092 करोड़ के इस प्रोजेक्ट के साथ ही वाराणसी मेट्रो की भी मंजूरी की तैयारी की गई है। मेरठ, इलाहाबाद और आगरा में मेट्रो चलाने के प्रस्ताव पर औपचारिक सहमति देने की तैयारी केंद्र कर रहा है। सारे प्रस्ताव राज्य सरकार द्वारा केंद्र को भेजे जा चुके हैं। शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने राज्य सरकार के सामने साफ कर दिया है कि मंजूरी की इस प्रक्रिया में तीन माह का वक्त लगेगा। यानी दिसंबर में केंद्र से कानपुर मेट्रो समेत अन्य परियोजनाओं को लेकर अच्छी खबर आ सकती है। यह अलग बात है कि केंद्र द्वारा इस खुशखबरी की घोषणा तब होगी जब यूपी में विधानसभा चुनाव बिल्कुल नजदीक आ जाएंगे। तब इस घोषणा के जरिए केंद्र भी इन परियोजनाओं का श्रेय लेने की तैयारी करेगा।

राज्य से ज्यादा फायदे में होगा केंद्र

परियोजना में केंद्र और राज्य के कोष में टैक्स के माध्यम से भी आय होगी। यह अलग बात है कि टैक्स लेने में राज्य से केंद्र काफी आगे होगा। प्रोजेक्ट लगाने में केंद्र व राज्य को मिलाकर 2000 करोड़ के टैक्स की अदायगी होगी। इसमें लगभग 1400 करोड़ केंद्र के खाते में जाएंगे तो राज्य के खाते में टैक्स के रूप में लगभग 700 करोड़ ही आएंगे। यूं कहें कि अपनी जमीन पर 834 करोड़ रुपए खर्च करके राज्य सरकार जितना फायदा कमाएगी, उससे कहीं ज्यादा केंद्र को टैक्स के जरिए ही मिल जाएगा।

Center and state expenditure and stake:-

केंद्र व राज्य के खर्च व हिस्सेदारी:-

  1. भारत सरकार द्वारा निवेश – 2322 करोड़

हिस्सेदारी – 13.59 प्रतिशत

2. राज्य सरकार द्वारा निवेश – 2322 करोड़

हिस्सेदारी – 13.59 प्रतिशत

3. केंद्र द्वारा साइड डेवलपमेंट पर खर्च – 929 करोड़

हिस्सेदारी – 5.44 करोड़

4. जमीन के लिए राज्य सरकार का खर्च – 834 करोड़

खर्च के एवज में राज्य का हिस्सा – 4.88 प्रतिशत

5. स्थानीय निकायों द्वारा निवेश – 350 करोड़

हिस्सेदारी – 2.15 करोड़

6. बहुराष्ट्रीय व देसी एजेंसियों से लोन – 9405 करोड़

लोन के हिसाब से एजेंसियों की हिस्सेदारी – 55 प्रतिशत

      वर्ष 2021 तक प्रोजेक्ट पर कुल खर्च – 17092 करोड़

KANPUR METRO MAP

Kanpur Metro Map

Kanpur Metro Jobs/recruitment Online Apply 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*