प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2020 | Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

pradhanmantrivikasyojana.in

पीएम फसल बीमा योजना|प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2020|aavedan apply online|online registration| Online Form Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY)|online application form|download pdf form|notification|website|helpline number| List|Suchi|Eligibility|last date|Beneficiary Suchi

Online Form Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY)

Online Form Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana (PMFBY) :- नई फसल बीमा योजना एक राष्ट्र – एक योजना के विषय के अनुरूप है। इसमें सभी पिछली योजनाओं की सर्वोत्तम सुविधाओं को शामिल किया गया है और साथ ही पिछली सभी कमियों / कमजोरियों को हटा दिया गया है। पीएमएफबीवाई मौजूदा दो योजनाओं को राष्ट्रीय प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2020 के साथ-साथ संशोधित एनएआईएस की जगह लेगी।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2020 

भारत सरकार ने अपने वित्तीय बजट 2020-21 में 11 करोड़ किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ देने का प्राबधान रखा हैं। पीएम फसल बीमा योजना 2020 के अंतर्गत देश के करोड़ो किसानो को फायदा होगा। केंद्र सरकार अपनी इस प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2020 से किसानों की आय दोगुना करेगी। भारत एक कृषि प्रधान देश होने के कारण कई प्रकार की योजना शुरू की हैं।

1. भारत सरकार कृषि उपज की मार्केटिंग और कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग लाने वाले राज्यों को प्रोत्साहन देगी।
2. पानी की किल्लत निपटने के लिए 100 जिलों पर फोकस किसा जायेगा।
3. सरकार उन किसानो की बंजर भूमि पर सौर ऊर्जा प्रोजेक्ट लगाएगी जहा पर आनाज नहीं होता है।
4. सरकार किसानो के लिए उर्वरक के सही और सीमित उपयोग पर काम करेगी।
5. केंद्र सरकार प्रधानमंत्री कुसूम योजना के तहत किसानों को सोलर पंप से जोड़ेगी। सरकार कुसूम योजना से 20 लाख किसानों को जोड़ेगी।
6. भारत सरकार किसानो के लिए खोले गए वेयर हाउस, कोल्ड स्टोरेज को नाबार्ड अपने अधीन करेगी।
7. केंद्र सरकार ने महिला किसानों के लिए धान्य लक्ष्मी योजना शुरू करेगी। धान्य लक्ष्मी योजना के अंतर्गत बीज से जुड़ी योजनाओं को महिलाओं को जोड़ा जायेगा।

8. भारत सरकर किसनो के लिए रेल सेवा शुरू करेगी जिस से जल्दी खराब होने वाली चीजों को जैसे दूध, मांस और मछलियों को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुचायेगी।
9. केंद्र सरकार किसानों के लिए कृषि उड़ान योजना शुरू करेगी। इस योजना से देश में आदिवासी इलाकों से कृषि उपज को बढ़ावा मिलेगा। 10. हॉर्टिकल्चर पैदावार को बढ़ावा दिया जायेगा।
11 .जीरो बजट नेचूरल फार्मिंग को शामिल करके टिग्रेटेड फार्मिंग सिस्टम को बढ़ावा दिया जायेगा।
12. मिल्क प्रोसेसिंग कैपेसिटी को 53 मीट्रिक टन से 108 मीट्रिक टन किया जायेगा।
13. सरकार देश में वर्ष 2023 तक मछली उत्पादन 200 लाख टन तक बढ़ायेगी।
14. केंद्र सरकार दीनदयाल अंत्योदय योजना के अंतर्गत स्वयं सहायता समूहों को बढ़ावा देंगे।
15. किसान क्रेडिट कार्ड योजना को 2021 तक बढ़ाया जायेगा। भारत सरकार ने 2021 बजट में 15 लाख करोड़ रुपए एग्रीकल्चर क्रेडिट के लिए रखा है।

Objective Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 

1. प्राकृतिक आपदाओं कीटनाशकों और रोगों के परिणामस्वरूप अधिसूचित फसलों में से किसी भी विफलता की स्थिति में किसानों को बीमा कवरेज और वित्तीय सहायता प्रदान करना।
2. किसानों की खेती में स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए किसानों की आय को स्थिर करने के लिए।

3. किसानों को अभिनव और आधुनिक कृषि प्रथाओं को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना।
4. कृषि क्षेत्र को ऋण के प्रवाह को सुनिश्चित करने के लिए।

pradhanmantrivikasyojana.in

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Key Features

1. सभी खरीफ फसलों के लिए किसानों को सिर्फ 2% का एकमात्र प्रीमियम और सभी रबी फसलों के लिए 1.5% का भुगतान किया जाएगा।
2. वार्षिक वाणिज्यिक और बागवानी फसलों के मामले में, किसानों द्वारा प्रदत्त प्रीमियम का भुगतान केवल 5% होगा।
3. किसानों द्वारा प्रदत्त प्रीमियम दरें बहुत कम हैं और प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसलों के नुकसान के बारे में किसानों को पूर्ण बीमा राशि देने के लिए सरकार द्वारा शेष प्रीमियम का भुगतान किया जाएगा।

4. सरकारी सब्सिडी पर कोई ऊपरी सीमा नहीं है भले ही बैलेंस प्रीमियम 9 0% हो, यह सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।
5. इससे पहले, प्रीमियम दर को कैप करने का प्रावधान था जिसके परिणामस्वरूप किसानों को कम दावों का भुगतान किया गया था।
6. यह कैपिंग प्रीमियम सब्सिडी पर सरकार के आउटगो को सीमित करने के लिए किया गया था।
7. इस कैपिंग को अब हटा दिया गया है और किसी भी कमी के बिना किसानों को पूर्ण बीमा राशि के लिए दावा मिल जाएगा।

8. प्रौद्योगिकी के उपयोग को काफी हद तक प्रोत्साहित किया जाएगा। किसानों को दावे के भुगतान में देरी को कम करने के लिए स्मार्ट फोन का उपयोग।

9. कटाई के आंकड़ों पर कब्जा करने और अपलोड करने के लिए किया जाएगा।
10. रिमोट सेंसिंग का उपयोग फसल कटाई प्रयोगों की संख्या को कम करने के लिए किया जाएगा। पीएमएफबीवाई एनएआईएस / एमएनआईआईएस की।

11. एक प्रतिस्थापन योजना है इस योजना के कार्यान्वयन में शामिल सभी सेवाओं की सेवा कर देयता से छूट होगी।
12. यह अनुमान लगाया गया है कि नई योजना किसानों के लिए बीमा प्रीमियम के 75-80 फीसदी सब्सिडी सुनिश्चित करेगी।

pradhanmantrivikasyojana.in

How to Apply Online as Farmer Under PMFBY

1. प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना के लिए Online Registration के लिए फसल बीमा वेबसाइट पर Log in करना होगा। http://agri-insurance.gov.in/Login.aspx
2. लॉगिन करने के बाद अपना आवेदन पत्र भरे।
3. इस Online Form में आप अपनी डिटेल भरें।
4. इस Detail में जैसे नाम, राज्य, जिला, ब्लॉक, ग्राम पंचायत, गांव सहित पूरा पता, किसानों के फसल बीमा आवेदन पत्र में सही ढंग से भरे।

5. पीएमएफबीवाई पॉलिसी रकम को सीधे बैंक खाते में प्राप्त करने के लिए भूमि और बैंक Detail को भी फॉर्म में भरें।
6. आप Application form Online और Offline दोनों प्रकार से भर सकते हैं।
7. Application form भरने की प्रक्रिया के बाद अपना Application form जमा करे।
8. आवेदकों को एक आवेदन संख्या प्रदान की जाएगी जिससे वे भविष्य में अपने आवेदन को ट्रैक कर सकें।
9. फसल बीमा योजनाओं के बारे में अधिक जानकारी और आवेदन की स्थिति देखने के लिए किसान पीएमएफबीवाई एंड्रॉइड ऐप भी डाउनलोड कर सकते हैं

Farmers to be covered

1. फसल में बीमा योग्य हितों वाले मौसम के दौरान अधिसूचित क्षेत्र में अधिसूचित फसलों के सभी किसानों को पात्र हैं।
2. अनिवार्य कवरेज: इस योजना के तहत नामांकित क्षेत्र में अधिसूचित क्षेत्र की खेती पर बीमा योग्य हित के कब्जे के अधीन नामांकन, निम्नलिखित किसानों की श्रेणियों के लिए अनिवार्य होगा।

3. अधिसूचित क्षेत्र में किसान जिनके पास एक फसल ऋण खाता / केसीसी खाता है (जिसे ऋणदाता किसान कहा जाता है) जिसे फसल सीजन के दौरान अधिसूचित फसल के लिए क्रेडिट सीमा को मंजूरी / नवीनीकृत किया गया है। तथा ऐसे अन्य किसान जिन्हें सरकार समय-समय पर शामिल करने का निर्णय ले सकती है।
4. स्वैच्छिक कवरेज: ऊपर दिए गए सभी किसानों द्वारा स्वैच्छिक कवरेज प्राप्त नहीं की जा सकती है, जिसमें क्रॉप केसीसी / क्रॉप लोन खाताधारक शामिल हैं, जिनकी क्रेडिट सीमा का नवीनीकरण नहीं किया गया है।

Unit of insurance

1. यह योजना ‘क्षेत्रीय दृष्टिकोण आधार’ पर लागू की जाएगी, अर्थात्, प्रत्येक अधिसूचित फसल के लिए परिभाषित क्षेत्रों को व्यापक आपदाओं के लिए धारणा है कि सभी बीमाधारक किसानों, बीमा की एक इकाई में, एक फसल के लिए “अधिसूचित क्षेत्र” समान जोखिम जोखिम का सामना करना पड़ता है, 2. एक बड़े पैमाने पर उत्पादन होता है, प्रति हेक्टेयर उत्पादन की समान लागत, प्रति हेक्टेयर की तुलना में कृषि योग्य आय अर्जित करता है, और अधिसूचित क्षेत्र में बीमाधारक संकट के संचालन के कारण फसल नुकसान की इसी तरह की सीमा का अनुभव करता है।

3. परिभाषित क्षेत्र (अर्थात् बीमा का एकक क्षेत्र) ग्राम / ग्राम पंचायत स्तर है जो कि इन क्षेत्रों को प्रमुख फसलों के लिए बुलाया जा सकता है तथा अन्य फसलों के लिए ग्राम / ग्राम पंचायत के स्तर के ऊपर आकार की एक इकाई हो सकती है। समय की वजह से, बीमा की इकाई एक भू-फेंस / भू-मैप किए गए क्षेत्र हो सकती है, जो अधिसूचित फसल के लिए समरूप जोखिम प्रोफ़ाइल हो सकती है।
4. परिभाषित संकट के कारण स्थानीयकृत आपदाओं और बाद के पतन के जोखिमों के लिए नुकसान मूल्यांकन के लिए बीमा की इकाई व्यक्तिगत किसान के प्रभावित बीमा क्षेत्र होगी।

PMFBY

Insurance Premium Calculator

Insurance Guidelines.

Pradhan Mantri Fasal Bima App

About Kabita Rana 871 Articles
यह वेबसाइट सरकार द्वारा संचालित नहीं की जाती है। यह एक प्राइवेट वेबसाइट है इस वेबसाइट में हम सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को लिखते हैं। जिससे सरकार द्वारा चलाई गई योजनाओ की जानकारी समय समय आप के पास पहुंच सके।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.