फूड नेट ऑनलाइन हरियाणा 2020 | Foodnet Online Yojana Haryana

Foodnet Online Yojana Haryan

Foodnet Online Yojana Haryana 2020|aavedan|helpline number|List|Suchi|eligibility criteria|फूड नेट ऑनलाइन हरियाणा

Foodnet Online Yojana Haryana

हरियाणा सरकार ने किसानों की सभी सूचनाओं के लिए ‘फूड नेट ऑनलाइन’ के नाम की एक नई योजना का शुभारंभ किया है। इस योजना में किसान की फसल की सभी जानकारी सरकार के पास होगी । फूड नेट ऑनलाइन हरियाणा में किसान की फसल की सभी जानकारी सरकार के पास होगी । इस योजना की जानकारी मुख्यमंत्री जी ने द्वितीय कृषि सम्मलेन 2017 के समापन के दौरान पत्रकारों को बताया।

फूड नेट ऑनलाइन हरियाणा 2020

फूड नेट ऑनलाइन हरियाणा ऑनलाइन होगी और सभी किसानों को इस योजना में शामिल किया जाएगा। इस योजना में, किसान द्वारा बिक्री के लिए फसल बोने की सभी सूचना सरकार के खाते में लिखी जाएगी। किसानों के लिए फूडनेट ऑनलाइन योजना शुरू की जा रही है इस योजना को FIFO सॉफ्टवेयर के साथ अपडेट किया जाएगा।

Objective of Foodnet Online Yojana

1. फुडनेट ऑनलाइन योजना का शुभारम्भ किसानों के लिए शुरू किया जा रहा है।
2. योजना के तहत यह प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन होगी।
3. फूड नेट ऑनलाइन हरियाणा को फीफो सॉफ्टवेर से अपडेट किया जाएगा।

4. फुडनेट योजना 2020 का मुख्य उद्देश्य फसलो का बुआई, कटाई, उठान, पैकिंग और बिक्री तक सभी जानकारियो को इकट्ठा करना है।
5. इस योजना में किसान ने किस भूमि पर क्या, कब और कौनसी फसल उगाई है।
6. किसान को किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत परेशानी न हो इसके लिए इस योजना को शुरू करने के विचार है।

7. मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की योजना के अनुसार, सूरजकुंड में आयोजित शिल्प मेला के अनुसार किसानों के लिए फसलों, फसलों के उत्पादों और किसानों की जानकारी प्रदान करने के लिए एक निष्पक्ष आयोजन किया जाएगा।
8. इस मेले के लिए सूरजकुंड कैंपस का मेल कैलेंडर इस्तेमाल किया जा सकता है पुस्तक मेला और व्यापार मेला भी इस जगह पर आयोजित किया जा सकता है।
9. हरियाणा सरकार किसानों के लिए जल्द ही फसल बीमा योजना शुरू करने बलि है।

10. सरकार फसलों के संबंध में किसानों को सुविधाएं प्रदान करने के लिए नई योजनाएं शुरू कर रही है।
11. भारत एक कृषि प्रधान देश है, लेकिन यहां कृषि की दशा संतोजनक नहीं है।
12. कृषि उत्पादन में वृद्दि पूर्व में जनवृद्दि दर से भी कम रही। इसी कारण 1975 तक देश की खाद्य समस्या जटिल बनी रही।

13. हरियाणा राज्य के किसान, धान और गेहूं के पारंपरिक खेती कर रहे हैं अगर वे गांव के निकटतम शहर की आवश्यकता को विकसित करते हैं, तो यह अधिक लाभदायक होगा।
14. इस मेले के लिए सूरजकुंड कैंपस का मेल कैलेंडर इस्तेमाल किया जा सकता है।

 

Official Website :- http://haryanafood.gov.in/pds/en-us/Distribution/Distribution1

 

दोस्तों यदि आप को इस योजना के बारे में और अधिक जानकारी चाहिए तो निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर दे।

Notification के लिए आप Subscribe to Notification Bell को दबा दें।

About Kabita Rana 871 Articles
यह वेबसाइट सरकार द्वारा संचालित नहीं की जाती है। यह एक प्राइवेट वेबसाइट है इस वेबसाइट में हम सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को लिखते हैं। जिससे सरकार द्वारा चलाई गई योजनाओ की जानकारी समय समय आप के पास पहुंच सके।

1 Comment

  1. I appreciate to Govt. for introduce this scheme for Kishan. But My village is not connected with Internet facilities and no any mobile network for incoming and outgoing calling because there is no any Networking Company Tower that’s why my villagers can’t take the benefit of this scheme but Hry Govt. has forced to Registration for selling their food grain by this portal First Govt. should provide this facilities to such type of village. My village Panchayat has so many times has send the application for the installation of Network/Tele company’s Tower to concern ministry. But all in vain. I want to know that which ministry is responsible for provide the TOWER facilities in my Village.

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.