Jharkhand Ayushman Bharat Yojana झारखण्ड आयुष्मान भारत योजना

Jharkhand Ayushman Bharat Yojana

Jharkhand Ayushman Bharat Yojana

Jharkhand Ayushman Bharat Yojana :- झारखंड कैबिनेट ने मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना (एमएसबीवाई) और झारखंड आयुष भारत योजना को मर्ज करने के लिए मंजूरी दे दी है। अब प्रधान मंत्री जन आरोग्य अभियान और एमएसबीवाई के संयोजन से बना एक नई हाइब्रिड योजना झारखंड में शुरू की जाएगी। इस योजना के तहत सरकार लाभार्थियों को 5 लाख रुपये स्वास्थ्य बीमा का लाभ देगी। इस योजना से राज्य के 57 लाख परिवारों को सीधा लाभ मिलेगा। Ayushman Bharat Yojana पर होने वाले खर्च की 60 फीसदी राशि केंद्र और 40 फीसदी राज्य सरकार वहन करेगी। सरकार ने कहा की लोकतंत्र की सफलता तभी है जब अंतिम व्यक्ति तक विकास पहुंचे।

झारखंड मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना

लोकतंत्र के तीनों स्तंभों न्यायपालिका विधायिका और कार्यपालिका के समन्वय से विकास को हर व्यक्ति तक पहुंचा सकते हैं। आयुष भारत योजना से राज्य सरकार को प्रति वर्ष 401 करोड़ का वहन करना पड़ेगा। पहले मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा के तहत राज्य सरकार को प्रीमियम में लगभग 600 करोड़ का भुगतान करना था। सरकार का कहना है की अब किसी भी गरीब की दवा के अभाव में मौत नहीं होगी। वे देश के किसी भी अस्पताल में इलाज करा सकेंगे। जिस का सारा खरचा सर्कार करेगी। उन्होंने कहा कि हर गरीब को गरिमा के साथ जीने का अधिकार है।

1. मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा से पहले 59 लाख परिवारों में 28 लाख परिवार केंद्रीय योजना में और 31 लाख परिवार राज्य सरकार की मुख्यमंत्री स्वास्थ्य योजना के तहत कवर होते थे।

2. पहले 950 तरह की बीमारियां एवं जांच (सेकेंड्री और टर्शरी) की सुविधा थी अब यह बढ़ कर 1350 कर दी गयी हैं।

3. झारखंड आयुष भारत योजना से रोगी को मेडिकल, सर्जिकल और हॉस्पीटलाइजेशन का लाभ मिलेगा।

4. यह पूरी व्यवस्था कैशलेस होगी रोगी को किसी प्रकार का कोई भुगतान नहीं करना पड़ेगा।

5. इस नई हाइब्रिड योजना के तहत सरकार 1 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर मुहैया कराएगी।

6. इस के बाद शेष बची हुई राशि 1 लाख से 5 लाख रुपये के बिच सहायता एजेंसियों के द्वारा दी जाएंगे।

7. लाभार्थियों को सरकार द्वारा स्मार्ट कार्ड जारी किया जाएगा।

8. एमएसबीवाई के साथ राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना / आयुष्मान भारत योजना के विलय के बाद, यह योजना झारखंड राज्य आर्य समाज (जेएसएएस) द्वारा लागू की जाएगी।

9. जेएसएएस स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग या उसके उत्तराधिकारी के अधीन आता है।

सरकार द्वारा की गई 24 अगस्त 2018 को आयोजित कैबिनेट मीटिंग में कई अन्य महत्वपूर्ण निर्णय भी किए गए थे। झारखंड इनोवेशन लैब का नाम बदलकर अटल इनोवेशन लैब रखा गया है। उच्च शिक्षा विभाग के तहत प्रोफेशनल कॉलेज जमशेदपुर का नाम बदलकर अटल बिहार प्रोफेशनल कॉलेज रखा गया। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग के तहत मेडिकल कॉलेज का नाम, पलामू का नाम बदलकर अटल बिहारी वाजपेयी मेडिकल कॉलेज रखा गया है।

 

Official Website :- https://www.pmjay.gov.in

About Kabita Rana 871 Articles
यह वेबसाइट सरकार द्वारा संचालित नहीं की जाती है। यह एक प्राइवेट वेबसाइट है इस वेबसाइट में हम सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को लिखते हैं। जिससे सरकार द्वारा चलाई गई योजनाओ की जानकारी समय समय आप के पास पहुंच सके।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.