राजस्थान निर्माण श्रमिक सुलभ्य आवास योजना | Nirman Sramik Sulabhya Yojana Rajasthan

Nirman Sramik Sulabhya Yojana Rajasthan

Nirman Sramik Sulabhya Yojana Rajasthan 2021 

दोस्तों आप को जान कर खुशी होगी की राजस्थान मुख्यमंत्री ने प्रदेश में रह रहे श्रमिकों के लिए एक Nirman Sramik Sulabhya Yojana Rajasthan शुरू की है। सरकार राजस्थान में रहने बाले गरीब श्रमिक को जिनके पास अपना घर नहीं है उन्हें राजस्थान निर्माण श्रमिक सुलभ्य आवास योजना के तहत घर मुहया करबाएगी। प्यारे भाइयो हम आप को इस पोस्ट के माध्यम से बतायेगे की आप किस योजना का लाभ कैसे ले सकेंगे। और इस योजना के लिए कैसे अप्लाई कर सकेंगे

राजस्थान निर्माण श्रमिक सुलभ्य आवास योजना 2021

दोस्तों आज भी देश में ऐसे लोग है जो फुटपाथ पर सोते हैं जिनके पास अपना घर नहीं है। देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के सभी नागरिको को घर देने के बड़ा किया है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जारी की गई योजना “Housing for All” को भी बढ़ावा मिलेगा। दोस्तों आप को बता दे की यह निर्माण श्रमिक सुलभ्य आवास योजना ग्रामीण और शहरी दोनों भागों को इस योजना के अंतर्गत जोड़ेगी।

राजस्थान निर्माण श्रमिक सुलभ्य आवास योजना का लाभ

दोस्तों आप को बता दे की सरकार निर्माण श्रमिक सुलभ्य आवास योजना के तहत सरकार जिन लोगो के पास अपनी जमीन नहीं हैं उन्हें 1.5 लाख रूपये की सहायता देती है। यदि किसी व्यक्ति के पास अपनी जमीन है तो सरकार उन्हें 5 लाख रुपए निर्माण की लागत देती है। इस योजना में वास्तविक निर्माण की लागत का 25% हिस्सा सरकार द्वारा अनुदान के रूप में देय होगा।

 

Nirman Sramik Sulabhya Yojana Rajasthan

Eligibility of Nirman Sramik Sulabhya Yojana Rajasthan

1. इस योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी कम से कम 1 वर्ष से मण्डल में हिताधिकारी के रूप में पंजीकृत निर्माण श्रमिक हो।
2. अगर लाभार्थी स्वयं की जमीन पर आवास बनाता है तो जमीन पर स्वयं का या पत्नी / पति का मालिकाना हक होना चाहिए।

3. लाभार्थी की जमीन का कोई विवाद नहीं होना चाहिए।
4. लाभार्थी पति/पत्नी/पुत्री के नाम अगर पहले से कोई आवास है तो उन्हे योजना का लाभ नहीं मिलेगा।
5. इस योजना के अंतर्गत आवास का मालिकाना हक पति व पत्नी दोनों के संयुक्त नाम से होगा।
6. लाभार्थी ने पूर्व में किसी अन्य आवास योजना का लाभ ना लिया हो।

7. इस योजना का लाभ BPL श्रेणी के लोगों को मिलेगा।
8. अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के लोगो को इस योजना का लाभ मिलेगा।
9. जिस आवेदक की दो पुत्रियों वाले पिता को इस योजना का लाभ मिलेगा।

जरूरी दस्तावेज़ निर्माण श्रमिक सुलभ्य आवास योजना राजस्थान

1.  लाभार्थी की बीपीएल प्रमाण पत्र की कॉपी।
2. आवेदक का अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति प्रमाण पत्र।
3. यदि कोई आवेदक विकलांग है तो उस का विकलांगता का प्रमाण पत्र।
4. अगर दो पुत्रियाँ हैं तो राशन कार्ड की कॉपी।

5. वार्षिक आय प्रमाण पत्र की स्वप्रमाणित कॉपी।
6. यदि की आवेदक की जमीन पर स्वयं का या पत्नि/पति का मालिकाना हक होने का प्रमाण/दस्तावेज की कॉपी।
7. मकान का नक्शा
8. वित्तीय संस्थान/बैंक से आवास ऋण (Home Loan) लेकर आवास निर्माण करने की स्थिति में संबंधित वित्तीय
9. संस्थान/बैंक द्वारा जारी ऋण स्वीकृति पत्र की स्वप्रमाणित कॉपी।

10. लाभार्थी पंजीयन परिचय पत्र (Identity proof) या कार्ड की कॉपी।
11. लाभार्थी का भामशाह परिवार कार्ड या भामशाह नामांकन की कॉपी।
12. आवेदक का आधार कार्ड की कॉपी।
13. आवेदक का बैंक खाता पासबुक के पहले पन्ने की कॉपी।

How to Apply for Nirman Sramik Sulabhya Yojana Rajasthan

1. आवेदन प्रक्रिया राजस्थान निर्माण श्रमिक सुलभ्य आवास योजना।
2. इस योजना का लाभ लेने के लिए श्रम विभाग, राजस्थान सरकार की आधिकारिक वेबसाइट http://bocw.labour.rajasthan.gov.in/scheme में जाये।

3. वेबसाइट के पेज पर जाने के बाद योजनाए पर क्लिक करें।
4. उस के बाद “निर्माण श्रमिक सुलभ्य आवास योजना” लिंक पर क्लिक करें।

5. जिसके बाद आपको इस पेज पर नीचे दिये हुए “डाउनलोड आवेदन प्रपत्र” पर क्लिक करें।
6. आवेदन पत्र में पूछी गई जानकारी को ध्यान से भरे।
7. आवेदन पत्र को भर कर नीचे दिये हुए दस्तावेजों के साथ लगा कर श्रम विभाग में जमा करना है।

 

Nirman Sramik Sulabhya Yojana HelpLine No. 1800-1800-999 (निःशुल्क हेल्प लाईन)

About Kabita Rana 871 Articles
यह वेबसाइट सरकार द्वारा संचालित नहीं की जाती है। यह एक प्राइवेट वेबसाइट है इस वेबसाइट में हम सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को लिखते हैं। जिससे सरकार द्वारा चलाई गई योजनाओ की जानकारी समय समय आप के पास पहुंच सके।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.