UP Ganna kisan bhugtan Yojana

UP Ganna kisan bhugtan Yojana

उत्तर प्रदेश गन्ना किसान बकाया 2019, 5400 करोड़ रुपये,UP Ganna kisan bkaya 2019,Uttar Pradesh Ganna kisan bhugtan Yojana,UP Ganna kisan bhugtan Yojana,up Sugarcane farmers payment, notification, website,helpline number,List,Suchi

UP Ganna kisan bhugtan Yojana

UP Ganna kisan bhugtan Yojana :- उत्तर प्रदेश के गन्ना किसानो के लिए बहुत बड़ी खुसी की बात है की। उत्तर प्रदेश सरकार जल्द ही गन्ना किसानो का भुगतान करने बाली है। उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री योगी आदित्य नाथ ने इस की घोषणा 28 मार्च को की। उन्होंने कहा की हम जल्द ही गन्ना किसानो का 5400 करोड़ रुपये का भुगतान करने बाले हैं। आप को पता हे की देश का किसान कितनी मेहनत के साथ खेतो में काम करता है।

लेकिन उसे अपनी मेहनत का फल सही टाइम से नहीं मिलता। सरकार ने कहा हे की हमारे पास गन्ना किसानों का अभी तक 9835 हजार करोड़ रूपये का भुगतान करना है। लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार अभी तक 5400 करोड़ का ही भुगतान करने का फैसला लिया है।

UP Ganna kisan bhugtan Yojana

उत्तर प्रदेश सरकार ने कहा हे की अभी तक हम 3000 करोड़ की पेमेंट लोन के द्वारा करेंगे। इस के बाद हम 1000-1000 हजार करोड़ रुपये का भुगतान चीनी को बेचकर मिलने बाले पैसे से करेगें। 400 करोड़ का भुगतान चीनी मिल से होगा। सरकार ने कहा हे की कुछ मिलों का भुगतान पूरी तरह समाप्त कर देंगे।

बाकि चीनी मिलो का भुगतान 70 फीसद कर दिया जाएगा। जिसे चीनी मिले किसानो को भुगतान कर सके। आप को बता दे की उत्तर प्रदेश मुख्या मंत्री ने चीनी मिल मालिकों को चेतावनी दी है की किसानों के गन्ने के बकाए का भुगतान करो या जेल जाओ।

आप को पता होगा की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरकार बनते ही 57 हजार 578 करोड़ रुपये बकाये का भुगतान कर चुकी है।

सरकार की बेहतर नीति के कारण ही गन्ने के रकबे में 22 फीसद की बढ़ोतरी हुई है। हालांकि इस रिकार्ड भुगतान के बाद भी किसानों के 9835 करोड़ रुपये बाकी है।

दोस्तों आप को और अधिक जानकारी चहिये तो आप उत्तर प्रदेश चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग की वेबसाइट से देख सकते हैं।

About योजनायें 793 Articles
हेलो दोस्तों इस वेबसाइट को चलने का उदेश्य सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को आप तक पहुंचना है। जिस से आप के पसस समय समय पर इस की जानकारी आप तक पहुंच सके।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.