हरियाणा 50 काउज डेरी योजना 2020 | Haryana 50 Cows Dairy Yojana

Haryana 50 Cows Dairy Yojana

current scheme for dairy in haryana,pashudhan haryana scheme 2020,loan scheme in haryana,dairy scheme,haryana dairy loan form,online application form,aavedan apply online,online registration, download pdf form, notification,website,helpline number,List,Suchi,benefit,eligibility criteria, subsidy on dairy farming in haryana,haryana dairy loan form online,50 cow dairy yojana online application

Haryana 50 Cows Dairy Yojana 

Haryana 50 Cows Dairy Yojana 2020 :- हरियाणा सरकार के पशु पालन विभाग ने 50 काउज डेरी योजना 2020 की शुरुआत की है। इस योजना के अंतर्गत सभी जिलों में आधुनिक डेयरी की स्थापना की जाएगी। हरियाणा सरकार इस डेयरी की स्थापना के लिए लोगों को ब्याज मुक्त ऋण मुहैया कराया जाएगा। इन डेरियों को आधुनिक तरिके से बनाया जाएगा। गायों से दूध निकालने से लेकर गोबर के उठान तक सब कुछ मशीन आधारित होगा। ताकि गायों की सुरक्षा के साथ-साथ लोगों को जो दूध और घी मिले, वह भी स्वास्थ्यवर्धक हो। योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए विभाग के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी पीके महापात्रा ने सभी जिलों में पशुपालन विभाग के डिप्टी डायरेक्टर से संपर्क करना शुरू कर दिया है।

हरियाणा 50 काउज डेरी योजना 2020

प्रदेश सरकार द्वारा किसानों की आय बढ़ाने के लिए बड़े पैमाने पर कार्य किया जा रहा है। सरकार का मानना है कि आय बढ़ाने के लिए किसानों को दूसरे प्रकार के विकल्पों की ओर ध्यान देना होगा। पशुपालन विभाग के डायरेक्टर ने बताया कि विभाग द्वारा जो योजना तैयार की गई है, अगर शत-प्रतिशत लागू हो जाती है तो डेयरी का कारोबार करके किसान को करोड़पति बनने में समय नहीं लगेगा। प्रदेश में दूध की कोई कमी नहीं रहेगी। एनसीआर के जिलों में रहने वाले लोगों को दिल्ली जैसा मार्केट मिलेगा, जहां पर मनचाहे दूध की खपत हो सकती है।

Objective of Haryana 50 Cows Dairy Yojana 2020

1. प्रदेश सरकार द्वारा किसानों और नागरिकों की आय बढ़ाने की दिशा में कार्य किया जा रहा है।
2. इस स्कीम से किसान एक बेहतर जीवन जी सकता है।
3. जहां पर उसके पास पैसे की तंगी की समस्या खत्म हो जाएगी।

4. पशुपालन विभाग द्वारा बड़े पैमाने पर किसानों को यह सुविधा प्रदान की जा रही है।
5. पीके महापात्रा,एडिशनल चीफ सेक्रेटरी, पशु पालन विभाग हरियाणा।
6. विभाग द्वारा पांच गाय तक का पालन करने वाले लोगों को भी सुविधा प्रदान की जा रही है।

Benefit of Haryana 50 Cows Dairy Yojana 2020

1. नाबार्डद्वारा गायों की कीमत 60 हजार रुपए तक आंकी गई है।
2. योजना का नाम 50 काउज डेरी स्कीम दिया गया है।
3. जिसके तहत एक व्यक्ति को डेयरी खोलने के लिए करीब 30 लाख रुपए केवल गायों के लिए मिलेगा।

4. इसके अलावा इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए भी आवश्यक ऋण सरकार से प्राप्त किया जा सकता है।
5. जिसके बाद बैंकों से सामंजस्य बनाकर डॉक्यूमेंट को पूरा कर लोन आसानी से ले सकता है।
6. इस राशि का ब्याज सरकार भरेगी।
7. जिसके तहत पांच गाय जब आप खरीदना चाहते हो तो उनकी कीमत का प्रमाण आपको देना होगा।

10. जिसके तहत 50 प्रतिशत की सब्सिडी सरकार देगी।
11. 50 प्रतिशत आसान किस्ताें में किसान को बैंक को चुकाना होगा।
12. जिसके तहत 50 काउ डेरी स्कीम को लांच किया गया है।

पशुपालन विभाग के डायरेक्टर डाॅ. जीएस जाखड़ ने बताया कि दो महीने पहले ही योजना लांच की गई है। इस योजना को लेकर प्रदेश में बड़े स्तर पर उत्साह देखने को मिल रहा है। विभिन्न जिलों में आवेदन आने लगे हैं। जिसमें पलवल में तीन आवेदन सोनीपत से 11 आवेदन सहित जींद और हिसार सहित विभिन्न स्थानों पर रुझान देखने को मिल रहा है। क्योंकि अभी जल्द ही योजना लांच की गई है, जिसके कारण सही तरीके से लोगों तक पहुंच नहीं पाई है।

 

Official Website :- https://hisar.gov.in/animal-husbandry-dairying/

 

दोस्तों यदि आप को इस योजना के बारे में और अधिक जानकारी चाहिए तो निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर दे।

Notification के लिए आप Subscribe to Notification Bell को दबा दें।

About Kabita Rana 871 Articles
यह वेबसाइट सरकार द्वारा संचालित नहीं की जाती है। यह एक प्राइवेट वेबसाइट है इस वेबसाइट में हम सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को लिखते हैं। जिससे सरकार द्वारा चलाई गई योजनाओ की जानकारी समय समय आप के पास पहुंच सके।

6 Comments

  1. sir namashkar main himachal se hu main dairy kholna chata hu 30 lakh tak loan subsidi pe lena chata hu kripya kar ke mujhe batye ki loan kaise lu.
    mera phone no 9857845406 plese mujhe phone kare

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.